ख़बरें विस्‍तार से

एसिडिटी की शिकायत है तो ऐसे करे ठीक

Lucknow /8, | Publish Date: Jul 24 2017 1:19PM IST Views:447

एसिडिटी की समस्या कोई गंभीर समस्या नहीं है। लगभग सभी लोगों को इस समस्या से दो-चार होना पड़ता है। एसिडिटी का कारण हमारा आधुनिक खानपान है। कई बार ऐसा होता है कि अधिक मसालेदार व तली-भुनी चीजें खाने से एसिडिटी की समस्या पैदा हो जाती है। इसके साथ ही भूखे रहना, फास्ट फूड खाना, अनियमित दिनचर्या भी एसिडिटी को बढ़ावा देती है। जिसकी वजह से पेट में दर्द और उल्टी आने की समस्या उत्पन्न हो जाती है। एसिडिटी की समस्या को आप बिना दवा के घरेलू उपायों को अपनाकर ठीक कर सकते है। 

एसिडिटी के लक्षण

-सीने और छाती में जलन होना 
-खाने के बाद सीने में दर्द होना 
-मुंह में खट्टा पानी आना 
-गले में जलन और अपचन 
-घबराहट होना 
-खट्टी व सूखी डकारें आना 
-जी मिचलाना 


एसिडिटी दूर करने के उपाय 

1-आंवला
अगर आपके एसिडिटी की शिकायत है तो आंवला खाना आपके लिए बहुत फायदेमंद होगा। आंवला चूरन को औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता हैं। आप चाहें तो घर पर भी आंवला कैंडी बना सकते हैं। सुबह शाम आंवला का चूरन इस्तेमाल करने से एसिडिटी की समस्या से राहत मिलती है। 


2- अजवायन

एसिडिटी हो जाने पर अजवायन बहुत कारगर होती है। दो चम्मच अजवायन को एक कप पानी में अच्छी तरह उबाल लें। जब ये पानी आधा हो जाए तो गैस बंद कर दें। ठंडा होने पर छानकर पी लें। ऐसा करने से एसिडिटी की समस्या से राहत मिलती है।

3-अदरक 
अदरक का सेवन करने से एसिडिटी से राहत मिलती है। इसके लिए अदरक के छोटे-छोटे टुकड़े करके उसको पानी में उबाल ले। फिर उसका पानी छानकर ठंडा करे। ठंडा हो जाने के बाद इसका प्रयोग करे।  

4- तुलसी की पत्त‍ियां

तुलसी एक औषधि है। जो सर्दी-जुकाम जैसी बीमारियों के साथ ही एसिडिटी में भी राहत दिलाने का काम करती है। 

5- नीम की छाल 

नीम की छाल को पीसकर उसका चूर्ण बनाकर पानी के साथ लेने से एसिडिटी से निजात मिलती हैं। अगर आप यह चूर्ण नहीं लेना चाहते है तो नीम की छाल को भिगो दे और सुबह इसका पानी पिए।


6- जीरा

जीरा, पेट दर्द, कब्ज और एसिडिटी के इलाज में काफी कारगर है। जीरे को भूनकर काले नमक के साथ खाने से जल्दी आराम मिलता है। 

7- पपीता  

एसिडिटी में पपीता रामबाण की तरह काम करता है। पपीते एसिडिटी के इलाज में कारगर है। इसमें पैपीन नामक एंजाइम पाया जाता है, जो पाचन क्रिया सुधारने में मदद करता है। इसके साथ ही पपीते में पोटैशियम भी पाया जाता है, जो आंतों के लिए लाभदायक है। पपीता में मौजूद विटामिन सी एसिडिटी को बनने से रोकता है। 

8- लहसुन 

पेट की समस्या के लिए लहसुन एक रामबाण उपाय है। एसिडिटी हो या पेट की कोई अन्य बीमारी,सुबह खाली पेट लहसुन खाने से पेट संबंधी सभी बीमारियां दूर हो जाती है।  


अगली प्रमुख खबरे

Video's

Submit Your News (Be a Reporter)