ख़बरें विस्‍तार से

अखिलेश के ड्रीम प्रोजेक्ट गोमती रिवर फ्रंट की होगी CBI जांच

Lucknow /3, | Publish Date: Jun 18 2017 10:23PM IST Views:455

लखनऊ। सीएम योगी आदित्यनाथ को गोमती रीवर फ्रंट के निरीक्षण के दौरान अनेकों गड़बड़ियां मिली थी।  जिसके बाद सीएम योगी ने न्यायमूर्ति आलोक सिंह की अध्यक्षता में एक जांच समिति बना कर जांच कराये जाने का आदेश दिया था। जांच कमेटी ने 15 दिन में जाँच कर अपनी रिपोर्ट सरकार को सौप दी थी। अब विवादों से घिरी गोमती रीवर फ्रंट की भाजपा सरकार ने सीबीआई जाँच कराएगी। 

सूत्रों के अनुसार सीएम योगी जल्द ही सीबीआई जाँच का आदेश का अनुरोध कर सकते है। जाँच रिपोर्ट के मुताबिक कई बड़े अफसरों, अभियंतायों को योजना में गड़बड़ी करने का दोषी पाया गया है। अखिलेश सरकार के कार्यकाल में वर्ष 2014-15 में गोमती नदी के चैनलाइजेशन परियोजना के लिए 656 करोड़ रुपये की धनराशि तय की गई। पर इसमें 1,513 करोड़ रुपये लिए गए जबकि इस परियोजना का सिर्फ 60 प्रतिशत ही हो पाया। गोमती नदी में गिरते नालों का डायवर्जन नहीं किया गया और सुन्दरीकरण के लिए बाकी काम करा दिए गए। 

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि परियोजना के बचे हुए काम अच्छी गुणवत्ता के साथ पूरा कराया जायेगा। गोमती को प्रदूषण से मुक्त करने के लिए नदी में गिर रहे नालों के पानी का शोधन करने के लिए 350 करोड़ रुपये की राशि जारी होगी।


अगली प्रमुख खबरे

Video's

Submit Your News (Be a Reporter)