ख़बरें विस्‍तार से

आखिर क्यों कहते है रक्तदान को महादान, जानें..

Lucknow /8, | Publish Date: Jun 22 2017 5:41PM IST Views:374

हिमांशु मिश्रा (पत्रिका लाइव ब्यूरो)

किसी व्यक्ति के लिए उसकी जिंदगी से बढकर कुछ भी नही होता और जिंदगी में किसी व्यक्ति की जान बचाने का मौका भी बहुत कम ही मिलता है। रक्तदान से हम किसी की जान भी बचा सकते है। लेकिन रक्तदान को लेकर समाज का नकारात्मक रवैया लोगों को दुविधा में डालता है कि क्या रक्तदान करना सही है या गलत? तो बता दें कि रक्तदान करना हमारे शरीर के लिए जरूरी होता है और जरूरत पड़ने पर हमें रक्तदान करना भी चाहिए।

क्या आपको पता है हमारे शरीर में कुल वजन का 7% हिस्सा खून होता है। जब हम ब्लड डोनेट करते  है तो शरीर में मौजूद बोनमैरो नए रेड सेल्स बनाता है। इससे शरीर को नए ब्लड सेल्स मिलने के साथ ही साथ तंदुरुस्ती भी मिलती है। ब्लड डोनेशन सुरक्षित व स्वस्थ परंपरा है। इसमें जितना खून लिया जाता है, वह 21 दिन में शरीर फिर से बना लेता है। एक तरह से देखा जाए तो ये एक फायदेमंद प्रक्रिया है शरीर के लिए। मेडिकल ने सिद्ध किया है कि रक्तदान से शरीर में किसी भी प्रकार की कोई कमी नही होती। बल्कि रक्तदान के द्वारा दिल और लीवर से जुड़ी बीमारियों से भी बचा जा सकता है।  

आज भी बहुत से लोग सही समय पर खून ना मिल पाने की वजह से कई तरह की दिक्कतों का सामना करने को मजबूर है। जिसका एक मुख्य कारण जागरूकता का अभाव भी है। कुछ लोग अभी भी रक्तदान को गलत और नुकसानदायक मानते है जबकि वास्तविकता इससे उलट है। 18 साल से अधिक उम्र का कोई भी व्यक्ति जिनका वजन 50 किलोग्राम या उससे अधिक हो, रक्तदान के योग्य होता है और कभी भी रक्तदान कर सकता है। एक स्वस्थ व्यक्ति वर्ष में तीन से चार बार तक अपना खून दे सकता हैं। डॉक्टरों के अनुसार रक्तदान करने से 48 घंटे पहले और 48 घंटे बाद तक धूम्रपान या एल्कोहल का सेवन करना वर्जित किया गया है।

इस संबंध में 14 जून को विश्व डोनर डे भी मनाया जाता है। इस बात में कोई दो राय नहीं कि रक्तदान करने का अहसास बहुत ख़ास होता है। लेकिन ये बात ध्यान देने योग्य है कि इंसान के शरीर में खून का कोई दूसरा विकल्प नहीं है। इसलिए ये काम बहुत अहम हो जाता है कि रक्तदान करते समय ध्यान रखें कि आपका दान ज़रूरतमंद मरीज़ों के काम आ पाए तो इससे बड़ी संतुष्टि की बात कोई दूसरी नही हो सकती। तभी तो कहा जाता है, 'रक्तदान महादान'।


अगली प्रमुख खबरे

Video's

Submit Your News (Be a Reporter)