ख़बरें विस्‍तार से

लखनऊ में सड़को पर फैले कचरे को भी साफ़ करो साहब..फिर मिलेगा योग से फायदा

Lucknow /3, | Publish Date: Jun 20 2017 6:39PM IST Views:454

21 जून को लखनऊ में होने वाले अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के लिए तैयारी पूरी हो चुकी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रमाबाई रैली स्थल पर कल एक साथ योग करते नज़र आयेंगे। इस अवसर पर 50,000 से अधिक लोगों के आगमन की उम्मीद लगाई जा रही है। योग को लगभग 5,000 हजार वर्ष पुरानी भारतीय सभ्यता में मानसिक, शारीरिक और आध्यात्मिक प्रथा के रुप में देखा गया है। योग की उत्पत्ति प्राचीन समय में भारत में हुयी थी, जब लोग अपने शरीर और दिमाग में बदलाव के लिये ध्यान किया करते थे। 

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के लिए जहां एक ओर लखनऊ में पूरा प्रशासनिक अमला तैयारियों में लगा हुआ दिखाई दे रहा है वहीं लखनऊ में गंदगी और कूड़े के बड़े-बड़े ढेर भी दिखाई दे रहे है। पीएम नरेन्द्र मोदी आज जानकीपुरम में सीडीआरआई और एकेटीयू में जा रहे है। पीएम मोदी के आगमन वाले वाले स्थान को पूरी तरह से साफ सुथरा किया गया है लेकिन उसी सड़क के ५० मीटर दूर बड़े-बड़े कूड़े के ढेर लगे है। अब प्रश्न यह उठता है कि क्या गंदगी के बीच रहकर योग करते रहने से स्वस्थ रहा जा सकता है ? शायद तार्किक रूप से तो नहीं, पर राजनीतिक रूप से शायद रहा भी जा सकता हो। 

पीएम मोदी के स्वच्छता मिशन, स्वच्छ भारत, स्वस्थ भारत में लोगो ने बढचढ कर हिस्सा लिया। राजधानी लखनऊ भी इससे अछूती नहीं रही, लखनऊ में भी लोगो ने सफाई का विशेष ध्यान रखना शुरू कर दिया। शहरवासियों ने सोचा कि गंदगी दूर कर स्वस्थ रहा जा सकता है। अब नागरिको ने तो जागरूक होकर सफाई अभियान का ध्यान दिया लेकिन लखनऊ का नगर निगम प्रशासन न जाग सका। कारण यह हुआ कि कालोनी तो साफ हो गई लेकिन कालोनियों से कुछ दूर कूढ़े के ढेर लगने शुरू हो गए। कूढ़े के इन ढेरों को देखने वाला कोई नहीं। 

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के पूर्व हम लखनऊ शहर के एक छोटे से हिस्से जानकीपुरम में फैली गंदगी को दिखाने का प्रयास करते है। यह गंदगी मात्र बस बानगी ही है। इस बानगी को देखकर मूल स्थिति का आकलन किया जा सकता है। हालांकि हमारे मुख्यमंत्री ने घोषणा की थी कि योग दिवस के पूर्व सफाई अभियान चलाया जायेगा। 


अगली प्रमुख खबरे

Video's

Submit Your News (Be a Reporter)