ख़बरें विस्‍तार से

भारत अपने न्यूक्लियर हथियारों का तेजी से कर रहा आधुनिकीकरण, जानें पूरी खबर..

Delhi /2, | Publish Date: Jul 13 2017 2:58PM IST Views:597

भारत आजकल अपने न्यूक्लियर हथियारों को तेजी से आधुनिक बनाने में लगा हुआ है। खबरों के मुताबिक भारत की न्यूक्लियर रणनीति का मकसद, उसके पारंपरिक विरोधी देश पाकिस्तान और चीन पर नजर रखना है। एक्सपर्ट्स की मानें तो भारत चार सिस्टम पर बहुत तेजी से काम कर रहा है। इसमें लॉन्ग रेंज की जमीन और समुद्र से छोड़ी जाने वाली मिसाइलें शामिल हैं। अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक भारत को अभी और वॉरहेड्स की दरकार है। क्यूंकि एक साथ कई मिसाइलों पर काम चल रहा है।"  

एक न्यूज एजेंसी के मुताबिक दो अमेरिकी एक्सपर्ट्स हेंस एम कृश्टेंसन और रॉबर्ट एस नोरिस ने इंडियन न्यूक्लियर फोर्सेस 2017 के नाम से एक आर्टिकल लिखा है। जिसमें उन्होंने बताया है कि भारत के पास 600 किलो प्लूटोनियम है जो 150-200 न्यूक्लियर वॉरहेड्स के लिए पर्याप्त है। हालांकि वह इस पूरे एटमी मटेरियल को न्यूक्लियर वॉरहेड्स में तब्दील नहीं करेगा। अमेरिकी जर्नल 'आफ्टर मिडनाइट' में दावा किया गया है कि भारत एक बेहतरीन मिसाइल का निर्माण कर रहा है।

एक्सपर्ट्स का मानना है कि अग्नि-4 मिसाइल पूरे चीन को निशाना बनाने में सक्षम है। इसके साथ ही भारत लॉन्ग रेंज की अग्नि-5 मिसाइल पर भी काम कर रहा है। ये तीन स्टेज और सॉलिड फ्यूल से चलने वाली इंटरकॉन्टीनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) है, जो 5 हजार किमी से भी ज्यादा दूरी तक निशाना लगा सकती है।
 
एक्सपर्ट्स के मुताबिक,"भारत जो भी सक्षमता हासिल करेगा, वो सभी को अगले दशक में देखने को मिलेगी और तभी तय होगा कि भारत का न्यूक्लियर वेपन्स को लेकर क्या रुख। भारत न केवल अपने हथियारों का मॉडर्नाइजेशन कर रहा है बल्कि नए न्यूक्लियर वेपन्स सिस्टम्स डेवलप कर भी कर रहा है। मौजूदा वक्त में भारत के पास 7 न्यूक्लियर कैपेबल सिस्टम हैं, जिनमें 2 एयरक्राफ्ट और एक सी-बेस्ड बैलिस्टिक के साथ जमीन से दागी जाने वाली 4 मिसाइल हैं।"


अगली प्रमुख खबरे

Video's

Submit Your News (Be a Reporter)