ख़बरें विस्‍तार से

भारत ले अपने कदम पीछे नहीं तो होगा 1962 से भी बुरा हाल : चीन

Delhi /2, | Publish Date: Jul 5 2017 1:04PM IST Views:514

सिक्किम सेक्टर में भारतीय और चीनी सेना के बीच एक महीने से जारी गतिरोध खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। दोनों देशों के बीच तनाव लगातार बढ़ता ही जा रहा है। इस बीच चीन ने भारत को चेतावनी भी दे दी है। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने कहा है कि अगर भारत अपनी हरकतों से नहीं मानता है तो चीन के पास सेना के इस्तेमाल के अलावा कोई अन्य उपाय नहीं बचता है और इस बार भारत का 1962 से भी ज्यादा बुरा हाल होगा। चीन ने कहा है कि अब भारत को तय करना है कि किन विकल्पों को अपनाकर इस गतिरोध को खत्म किया जा सकता है।

चीन के राजदूत ने कहा है कि 'चीन सरकार मौजूदा स्थिति का शांतिपूर्ण समाधान चाहती है। इसके लिए भारत को अपनी सेना सीमा से वापस लौटानी होगी। यही भारत और चीन के बीच किसी सार्थक वार्ता की पहली शर्त है। इसके साथ ही साथ डोकलाम (डोंगलोंग) मुद्दे पर समझौते की संभावना नहीं है। बता दें कि भूटान, भारत और चीन की सीमा के संधि स्थल पर स्थित डोकलाम में चीनी सेना सड़क निर्माण करा रही थी लेकिन भारत ने हस्तक्षेप करके निर्माण कार्य रुकवा दिया।

ग्लोबल टाइम्स के एक लेख में कहा गया कि अगर भारत को लगता है कि उसकी सेना चीन का मुकाबला कर सकती है तो हमें उसे अपनी ताकत का एहसास कराना होगा। और अरूण जेटली की बात का जवाब देते हुए आगे लिखा गया कि ये बात सही हैं कि अब भारत 1962 वाला भारत नहीं है, लेकिन अगर युद्ध होता है तो अभी भी भारत को 1962 से ज्यादा नुकसान उठाना पडेगा। 

कांग्रेस ने मंगलवार को केंद्र पर चीन की ओर से होने वाले अतिक्रमण को गंभीरता से न लेने का आरोप लगाया है। पार्टी ने सरकार से संभावित हमले का मुकाबला करने के लिए उचित कदम उठाने को कहा है। कांग्रेस ने सरकार को बीजिंग के साथ कूटनीतिक चैनल के जरिये त्वरित बातचीत का सुझाव भी दिया है।


अगली प्रमुख खबरे

Video's

Submit Your News (Be a Reporter)