ख़बरें विस्‍तार से

नशेबाजों को छोड़ जागरुकता अभियान में व्यस्त नॉरकोटिक्स विभाग

Lucknow /3, | Publish Date: Jun 27 2017 5:03PM IST Views:408

राजधानी के प्रेस क्लब में मंगलवार को मादक पदार्थों के प्रति जागरुकता अभियान चलाने वाली दिशा संस्था तथा नॉरकोटिक्स विभाग ने पत्रकार वार्ता का आयोजन किया। दिशा डि-एडिक्शन एंड रिहेब्लीटेशन सेन्टर के निदेशक कुमार दीपक ने अंतर्राष्ट्रीय नशा उन्मूलन दिवस पर होने वाले कार्यक्रमों की जानकारियां देते हुए कहा कि मंगलवार को हजरतगंज से चारबाग रेलवे स्टेशन तक स्टीकर अभियान चलाया जायेगा। जिसमें स्वापक नियंत्रण ब्यूरों, लखनऊ उत्तर प्रदेश की तरफ से जारी स्टीकर जगह जगह लगाए जाएंगे। इन स्टीकर में नशा छोड़ने की अपील के साथ नॉरकोटिक्स विभाग के फोन नम्बर भी लिखे होंगे। जिन पर फोन करके नशा बेचने वालों की जानकारियां गुप्त तौर पर प्रदान की जा सकेगी।

कुमार ने बताया कि बुधवार सुबह 8 बजे ग्लोब पार्क से अशोक मार्ग होते हुए गांधी प्रतिमा तक रैली निकाली जायेगी, जिसमें एनसीसी कैडेटस के साथ स्कूली बच्चें भाग लेंगे। युवाओं को ड्रग्स के दुष्प्रभावों से अवगत करवाने के लिए मोबाइल एक्टीविटी, सिनेमाघरों में लघु फिल्म दिखाने के साथ लखनऊ विश्वविद्यालय के सोशल वर्क डिपार्टमेंट में नशे को लेकर एक कार्यशाला का आयोजन भी किया जाएगा।

नॉरकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के क्षेत्रीय निदेशक बीरेन्द्र कुमार ने बताया कि फोन नम्बर (+91 9450011229, 0522 2339410 - 412) पर फोन करके नशेबाजों के सम्बंध में सूचना दी सकती है। सुचना देने वाले को इनाम भी दिया जायेगा। बुधवार को निकलने वाली जागरुकता पदयात्रा के बारे में बतातें हुए कहा कि रैली में एनसीसी कैडेटस के साथ कई गैर सरकारी संगठन और एनटीपीसी सहयोग कर रही है। लखनऊ विश्वविद्यालय में होने वाली वर्कशॉप में वक्ताओं द्वारा नशे के दुष्प्रभावों पर विस्तृत चर्चा की जाएगी।

राजधानी में लगातार बढ़ रहे नशे के उद्योग के सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि सूचना मिलने पर कार्यवाही की जाती रही है, लेकिन ये नशा समाज में इतनी गहरी जड़े जमा चुका है जिसका समूल नाश करना एक लम्बी प्रक्रिया है। संवाददाता ने जब नॉरकोटिक्स के क्षेत्रीय निदेशक बीरेन्द्र कुमार का ध्यान रेलवे स्टेशन, बस अड्डों पर मौजूद रिक्शेवालों की तरफ आकर्षित करवाया तो उसके जबाब के तौर पर उन्होनें कहा कि ये लोग नशे के आदि हो चुके है और इनकों पकड़ कर कुछ भी नही होगा। संवाददाता ने जब खुलेआम नशा कर रहे लोगों के जरिए ड्रग्स पैडलर तक पहुंचने की बात कही तब उन्होनें जवाब दिया कि ऐसे लोगों से कई बार पूँछताछ की गयी पर ये लोग मादक पदार्थ बेचने वालों का पता नहीं बतातें है।


अगली प्रमुख खबरे

Video's

Submit Your News (Be a Reporter)