ख़बरें विस्‍तार से

योगी राज में दौड़ेगी 'कौशल विकास' की गाड़ी, आईटीआई की गुणवत्ता भी होगी सुनिश्चित

Lucknow /3, | Publish Date: Jul 22 2017 2:57PM IST Views:431

कौशल विकास मिशन की तेज़ रफ्तार के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के हर मंडल मुख्यालय में ड्राइविंग प्रशिक्षण केंद्र खोलने का फैसला किया है। योगी आदित्यनाथ ने अपने कार्यालय में केंद्रीय कौशल विकास एवं उद्यमशीलता राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) राजीव प्रताप रूड़ी के साथ बैठक के बाद ये फैसला लिया। उनके साथ मंत्री चेतन चौहान भी वहां मौजूद रहे। 

प्रदेश में बिछेगा कौशल विकास का जाल -
केंद्रीय मंत्री रूड़ी ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार मिलकर प्रदेश में आईटीआई की गुणवत्ता सुनिश्चित कराएगी। इसके लिए मानक तय हो गए हैं। उन्होंने कहा कि निजी क्षेत्र में खुले तमाम आईटीआई की गुणवत्ता मानक के अनुरूप नहीं है। ऐसे में उनकी जांच भी कराई जाएगी और उनको मानक तथा गुणवत्ता के अनुरूप तैयार करने में प्रदेश सरकार मदद करेगी। उन्होंने कहा कि, "पहली बार इस मंत्रालय को अलग किया है और इस मंत्रालय को मात्र ढाई वर्ष हुए हैं।" उत्तर प्रदेश के कौशल विकास मंत्री चेतन चौहान ने कहा कि, "हम उत्तर प्रदेश में कौशल विकास का जाल भी बिछाएंगे।" 

सड़क दुर्घटना के मद्देनज़र लिया गया है फैसला -
संयुक्त पत्रकार वार्ता में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अब सरकार हर मंडल मुख्यालय पर चालकों के प्रशिक्षण के लिए केंद्र खोलेगी। इनमें हर तरह के वाहनों के चलाने का प्रशिक्षण दिया जाएगा। बाद में ऐसे केंद्र जिला मुख्यालयों पर भी खोले जाएंगे। उन्होंने कहा कि सड़क दुर्घटना में होने वाली मौत और चालकों की बढ़ती जरूरत के लिए यह फैसला लिया गया है।

 


अगली प्रमुख खबरे

Video's

Submit Your News (Be a Reporter)